कभी बारिश कभी बिजली कभी बादल समझते हैं!
हम उनकी आहटों को आज भी पायल समझते है!
वो झुकती हर नज़र थी तीर अब तलवार हैं यादें!
हमे अब लोग भी हारा हुआ घायल समझते है!
लकीरें उसके चेहरे की अभी खामोश हैं शायद!
छलकते अश्क़ न बोले मगर काज़ल समझते है!
यक़ीनन दिल के दरवाजे को वो भी खोल ही देगा!
के आशिक़ कब ज़माने को कोई हायल समझते है!
मुझे रुशवाईयों से अब जरा भी डर नहीं लगता!
मेरे मेहबूब ही मुझको कोई पागल समझते है!!
 ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
[wp_ad_camp_1]

Jab se dekha hai tumko,
Ankhon me tumhari tasveer ban gayi hai..
Lakh koshishen ki tumhe bhulane ki,
Par tumhari mohabbat mere pairon ki zanjeer ban gayi hai..
Chaha kar bhi tumse door nahi ja paata,
Lagta hai tum meri zindagi ban gayi ho….

,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

► Dukh me khusi ki wajah banti h mohabbat,
Dard me yaado ki wajah banti h mohabbat
Jab kuch b acha nai lagta hume duniya me
Tab humare jine ki wajah banti h Mohabbat. (Love sms)

Facebook Comments