परीक्षा में एक लड़की ने बगल वाली सीट पर बैठे लडके से पूछा
कि “यमक” अलंकार की परिभाषा बताओ एक उदाहरण
के साथ….

लड़के ने बोला:- जब एक ही शव्द दो बार आवे और दोनों शब्दों
का अर्थ भिन्न भिन्न हो तो उसे “यमक” अलंकार कहते हैं,

जैसे: – तुम रूठा ना करो, मेरी जान…!
मेरी जान निकल जाती है । smile.png smile.png

लड़के को नोबल पुरस्कार देने पर विचार किया जा रहा है… smile.png

,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

मैडम, बच्चे से: – तेरी कॉपी और पेन कहाँ है…??

बच्चा: – मेम जबसे आपको देखा, क्या कॉपी और क्या पेन,
तेरे मस्त-मस्त दो नैन, मेरे दिल का ले गये चैन, खो गई कॉपी,
गुम गया पेन… smile.png smile.png

,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

टीचर: – “ख़ुशी का ठिकाना ना रहा” इस मुहावरे का क्या मतलब है…???

पप्पू: – ख़ुशी घर वालों से छिपकर, रोजाना अपने बॉयफ्रेंड से मिलने जाती थी
एक दिन उसके पापा ने बॉयफ्रेंड के साथ देख लिया और ख़ुशी को घर से
निकाल दिया…. smile.png

अब बेचारी “ख़ुशी का ठिकाना ना रहा” smile.png smile.png

,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

आजकल के बच्चे: –
टीचर: – कल तुम स्कूल क्यों नहीं
आए थे…???
;;
::
;;
बच्चा: – जो लोग आए थे, उनकी क्या
सरकारी नौकरी लगवा दी…???

Facebook Comments